डॉ. व्ही. एस. वाकणकर

निबंध लेखन / संगोष्ठी में वाचन

अखिल भारतीय प्राच्य विद्या संगोष्ठी :

  • चित्रित प्रस्तर आश्रय मध्य प्रदेश १९५५
  • महत्वपूर्ण चित्र मन्दसौर से १९५६
  • भारतीय कला की प्राचीन विरासत, १९५६
  • उज्जैन से कुछ महत्त्वपूर्ण चित्र, १९५६
  • मालवा में अश्मयुगीन मानव के होने के संभाव्य आसार
  • Dharampurian industry of Upper Palaeolithic period

भारतीय इतिहास काँग्रेस :

  • प्राक्-ऐतिहासिक मालवा की झलक १९५२
  • भारत के चित्रित प्रस्तर आश्रय १९५६
  • उज्जैन से प्राप्त ठप्पा निशान लगे सिक्के (Punch marked) और उनकी प्राक् ऐतिहासिक उपलब्धि १९५२

International Congress of Pre - history and Proto - history, Rome 1962 :

  • भारत के चित्रित प्रस्तर आश्रय

प्रस्तर कला पर अंतर्राष्ट्रीय चर्चा , इटली , १९६९ :

  • भारत के प्रस्तर चित्रीकरण की सांस्कृतिक बाजू

प्राच्य विद्या विशेषज्ञों की अंतर्राष्ट्रीय काँग्रेस दिल्ली १९६४ :

  • कैरो म्युझियम से ब्राह्मी शिलालेख
  • बाबीलोन से द्विभाषिक टॅब्लेट

अखिल भारतीय कालिदास समारोह उज्जैन, १९६६-६७ :

  • ब्रिटिश म्युझियम में भोज का सरस्वती चित्र
  • कालिदास-कालीन सिक्के

भोज पर चर्चा सत्र १९७० :

  • ब्रिटिश म्युझियम में भोज का सरस्वती चित्र

मध्यप्रदेश इतिहास परिषद :

  • कयठा उत्खनन
  • मालवा प्रदेश के प्राक् ऐतिहासिक लेखन के लिए संभाव्य सूत्र १९६८
  • भोपाल में प्रस्तर चित्रण
  • अमलेश्वर स्तंभ का शिलालेख, १९७०

मुद्रा-विज्ञान सोसायटी संगोष्टी :

  • उज्जैन के नये राजा १९६८
  • उज्जैन से प्राप्त Greeco-Roman Bullae १९६९
  • मालवा के सतवाहन सिक्के , १९७०
  • उज्जैन के सिक्कोंपर विदेशी प्रभाव, १९७१

IPQUS राष्ट्रपति का भाषण १९७६ :

व्ही. एस. वाकणकर १९७६ -., पुरातत्व काँग्रेस तथा चर्चा १९७२ (U. V. Singh Ed.), pp. 5559. कुरुक्षेत्र: बी. एन. चक्रवर्ती विश्वविद्यालय में --- मालवा की ताम्रयुग की संस्कृति.

Top